Breaking News
  • By: Admin
  • Posted On:
  • 18-Mar-2017
  • Update On:
  • 26-Mar-17
  • 170

ग्वालियर

भारत में प्रतिभा की कमी नहीं है। बचपन से ही बच्चे अपनी प्रतिभा का लौहा मनवा रहे है। छोटी सी उम्र में कोई पेंटिंग में अपनी कला दिखा रहा है तो कोई डांसिंग  में तो कोई एक्टिंग के क्षेत्र में। यह कहना गलत नहीं होगा बच्चे अपने हुनर को निखारने और एक अलग पहचान बनाने के लिए मेहनत कर रहे हैं।





ग्वालियर शहर की थर्ड क्लास में पढऩे वाली महज नौ साल की जागृति खुरसीजा अपना करियर आर्टिस्ट के रूप में बनना चाहती है। जागृति इस समय अपने कला शिक्षक हितेंद्र शाक्य से कला की बारिकियां सीख रही है। हितेंद्र बताते है कि जागृति काफी कम समय में ही अ'छा पेंटिंग करने लगी है। जल्दी सीखने की प्रावृत्ति और मेहनत उसे एक अ'छे कलाकार बनने में मदद करेगा।





Virus-free. www.avast.com