• Posted by admin on Date Jul 21, 2018
    64 Views No Comments

    टॉप आईआईटी, आईआईएम की प्लेसमेंट सैलरी दूसरे संस्थानों से दोगुनी

    नई दिल्ली

    हर कोई चाहता है कि वह देश के टॉप इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट संस्थान में पढ़ाई करें। इसकी मुख्य वजह वहां की क्वालिटी एजुकेशन, इंफ्रास्ट्रेक्चर और जॉब प्लेसमेंट है। हाल ही में ऑनलाइन असाइनमेंट फ्लेटफॉम मेट्टल ने अपने एक सर्वे में बताया कि इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी  में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स की सैलरी दूसरे इंजीनियरिंग संस्थान के स्टूडेंटस से दोगुनी है। 114 इंजीनियरिंग संस्थानों पर किए गए एक सर्वे में ये बात सामने आई है। देश में जितने भी पुराने आईआईटी है जैसे आईआईटी दिल्ली, चैन्नई, खड़गपुर, रूड़की और कानपुर में उनकी शुरूआती प्लेसमेंट सैलरी नए खुले आईआईटी से काफी ज्यादा है। मेट्टल का दावा है कि पुराने इंजीनियरिंग संस्थान के शुरूआती प्लेसमेंट 11.1 लाख रूपए है जबकि नेशनल इस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के शीर्ष कॉलेजों में यह 6 लाख रूपए है।

    Mettl के सीईओ केतन कपूर ने बताया, ‘सभी क्षेत्रों से टैलंट की मांग बढ़ी है। इसलिए इंडस्ट्री प्लेयर्स टॉप आईआईटी का रुख कर रहे हैं। इनमें अच्छा टैलंट होता है। वहां बेहतरीन इंफ्रास्ट्रक्चर और विश्वस्तरीय फैकल्टी है।’ मशीन लर्निंग और डेटा साइंस जैसी नई टेक्नॉलजी की पढ़ाई करने वाले छात्रों को टॉप आईआईटी से तेजी से हायर किया जा रहा है। इनमें 11.1 लाख का ऐवरेज सैलरी पैकेज इसलिए भी अहम है क्योंकि पिछले 8 साल में दूसरे इंजिनियरिंग कॉलेजों में औसत शुरुआती सैलरी पैकेज में मामूली बढ़ोतरी हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक, 2010 में इन कॉलेजों का ऐवरेज पैकेज 3.5 लाख रुपये था, जो 2018 में बढ़कर 4.7 तक ही पहुंचा था। इसकी वजह स्टूडेंट्स की संख्या में बढ़ोतरी और डिमांड और सप्लाई में असंतुलन है।

    सर्वे मे यह भी बताया गया कि शीर्ष 6 आईआईएम- अहमदाबाद, बेंगलुरु, कलकत्ता, लखनऊ, इंदौर और कोझिकोड में ऐवरेज सैलरी पैकेज 20.6 लाख रुपये है। यह सभी एमबीए ग्रैजुएट्स को ऑफर किए जाने वाले 9.6 लाख रुपये के ऐवरेज पैकेज से 121 पर्सेंट ज्यादा है। शीर्ष सरकारी और प्राइवेट कॉलेजों का भी ऐवरेज सैलरी के मामले में प्रदर्शन अच्छा रहा है। इन कॉलेजों में ऐवरेज सैलरी पैकेज क्रमश: 18 लाख और 19.6 लाख रुपये है। बीटेक के बाद एमबीए करने वाले छात्रों का 14.8 लाख रुपये के साथ सबसे ज्यादा ऐवरेज सैलरी पैकेज है। आमतौर पर इन स्टूडेंट्स को कंपनियां आईटी कंसल्टेंट, प्रॉडक्ट हेड और सीटीओ की भूमिका में हायर करती हैं।

    जब तक गर्ल्स औऱ युवा महिलाओं को अवसर नहीं मिलता है देश की तरक्की पूरी नहीं हो सकती – राष्ट्रपति

    जल बचाओ-वीडियो बनाओ-पुरस्कार पाओं प्रतियोगिता में हिस्सा ले औऱ हर महीने जीते पुरस्कार

    इंडिया इनोवेशन कॉन्टेस्ट में ले हिस्सा और जीते 20 लाख तक का इनाम

    बिहार को चाहिए 408 स्पेशलिस्ट डॉक्टर

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *