• Posted by admin on Date Oct 2, 2018
    429 Views No Comments

    BMIDU : संगीत की दुनिया में बनाएं करियर

    _BMIDU lucknow

    नृत्य- संगीत की दुनिया तेजी से बदली है, साथ ही करियर के मौके भी बढ़ें हैं। यह क्षेत्र खासकर उन लोगों के लिए बहुत अच्छा साबित होता है, जिन्होंने सही जगह से अच्छा प्रशिक्षण लिया हो।। अगर आप भी इस क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है तो आपको बेहतर करियर देने में सहयोग कर सकती है। लखनऊ स्थित भातखंडे म्यूजिक इंस्टीट्यूट के बारे में।

    जानी मानी गायिका बेगम अख्तर, संगीतकार रोशन, गायक तलत महमूद, अनूप जलोटा और गायिका शन्नो खुराना जैसे अनेक नाम है जिनका रिश्ता बॉलीवुड और संगीत बिरादरी के अलावा एक और जगह जुड़ा रहा। वह जगह थी एक इंस्टीट्यूट, जिसे भातखंडे म्यूजिक इंस्टीट्यूट  डिम्ड यूनिवर्सिटी के नाम से जानते है।

    सन 1926 में इस इंस्टीट्यूट की स्थापना  जाने माने शास्त्रीय गायक विष्णु नारायण भारतखंडे औऱ राय उमानाथ बाली ने तत्काल शिक्षा मंत्री डॉ.राज राजेश्वरी बाली के सहयोग से की थी। तब इस इंस्टीट्यूट का नाम मैरिस कॉलेज   ऑफ म्यूजिक रखा गया था। आजादी के बाद 26 मार्च 1966 को उत्तर प्रदेश सरकार ने इस इंस्टीट्यूट का नाम बदलने का निर्णय लिया और संस्थापक विष्णु नारायण भातखंडे के नाम पर इसका नाम रखा गया भातखंडे म्यूजिक कॉलेज ऑफ हिंदुस्तानी म्यूजिक। सन 2000 में सरकार ने इसे डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा दिया गया।

    कोर्स व सीटें

    संस्थान में 32 प्रमुख कोर्स है जो  विभिन्न स्तर के है। संस्थान में डिप्लोमा स्तर के 16 कोर्स हैं जिनके नाम है प्रवेशिका, परिचय, प्रबुद्ध और पारंगत। डांस, वोकल, स्वर ,वाद्य और ताल में चारों स्तर के कोर्स उपलब्ध हैं और दो-दो साल के है। यहां डिग्री स्तर के तीन कोर्स हैं। एक का नाम है बीपीए यानी बैचलर ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स, दूसरे का नाम है एमपीए यानी मास्टर ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स और तीसरा है पीएचडी। बीपीए जहां तीन साल का कोर्स हैं वही एमपीए दो साल का है। यहां से आप डेढ़ साल में पीएचडी कर सकते हैं। जो डांस , स्वर वाद्य, ताल वाद्य और वोकल में उपलब्ध है। बीपीए और एमपीए में सीटों की संख्या क्रमश 55 (डांस-10, स्वर वाद्य -10, ताल वाद्य-10 और क्लासिक-25) व 70 (डांस 20, स्वर वाद्य-30, ताल वाद्य 10 व क्लासिकल-10) पीएचडी में सीटों की संख्या बदलती रहती है।

    क्या है खास

    रिकॉडिंग स्टूडियो

    हॉस्टल की सुविधा

    सुसज्जित लाइब्रेरी

    नृत्य-संगीत से जुड़ी कई पुस्तके उपलब्ध है

    साउंड म्यूजियम

    नामचीन कलाकारों की सीडी , कैसेटों का कलेक्श

    प्लेसमेंट

    नामचीन संस्थान होने के कारण इस संस्था के स्टूडेंट्स के सामने करियर की समस्या नहीं आती है।

    ये भी पढ़ें

    हिंदी पत्रकारिता का आधार और क्षेत्र है बेहद विशाल

    IITTM: यहां से कर सकते है ट्रैवल व टूरिज्म का कोर्स

    दिल्ली यूनिवर्सिटी में कई कॉलेजों में नए कोर्स होंगे शुरू

    भारत के टॉप लॉ यूनिवर्सिटी , देखें रैंकिंग

    साइबर लॉ चुनौतियों से भरा करियर

     

     

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *