• Posted by admin on Date Oct 5, 2018
    52 Views No Comments

    एथिकल हैकिंग में बनाए करियर

    Career-in-Ethical-Hacking

    नई दिल्ली

    अच्छे मकसद से हैंकिग करने वालों को हम व्हाइट हैट हैकर्स (white hat hacker), सिक्योरिटी एक्सपर्ट या एथिकल हैकर्स के नाम से जाना जाता है।  यह अपनी स्किल का इस्तेमाल कंपनी व यूजर्स के डेटा को सुरक्षित रखने के लिए करते हैं। हैंकर को एक चतुर प्रोग्रामर भी कहा जाता है।

    नेटवर्क संबंधी सुरक्षा चाहने वाले एंटरप्रिन्योर और सरकार एथिकल हैकर्स को नियुक्त करते है। हैकर्स उनके नेटवर्क , एप्लीकेशन, और दूसरे कंप्यूटर सिस्टम में सुधार करने का काम करते हैं। इनका मुख्य मकसद डेटा को चोरी होने से बचाना और जालसाजी को रोकना होता है।

    किन के लिए है ये क्षेत्र

    क्या डीडॉस अटैक या बफर ओवरफ्लो जैसी बातें आपको अपनी ओर आकर्षित करती हैं। सर्वर, नेटर्वक या सिक्योरिटी जैसे विषय आपको दिलचस्प लगते है। अगर जवाब हां है तो आप एथिकल हैकर (ethical hacking) या लीगल हैकर बनने के बारे में सोच सकते है।  कंप्यूटर साइंस में ग्रेजुएट या कंप्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री इस क्षेत्र के लिए जरूरी है। इसके अलावा आपको सी, सी प्लस प्लस, पायथन, रूबी जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओं की जानकारी होनी चाहिए।

    जरूरी स्किल

    एथिकल हैकिंग को एक दिन में नहीं सीखा जा सकता है। हां, लेकिन यह इतना मश्किल भी नहीं है। अन्य क्षेत्रों की तरह  इसके लिए भी दृढ़ निश्चय और लगन का होना पहली शर्त है। इस क्षेत्र में प्रवेश करने से पहले सुनिश्चित कर लें कि आपको विषयों की गहन जानकारी हो।

    ऑपरेटिंग सिस्टम और उसकी कार्य़विधि , कंप्यूटर नेटवर्क , प्रोग्रामिंग को शॉर्टकट से नहीं सीखा जा सकता है।  हैथिकल हैकर कई भी एक दिन में नहीं बन सकता है। यह एक लंबी प्रक्रिया है। सर्टिफिकेशन से पहले भी आपको बहुत तैयारी करना होती है। सर्टिफिकेशन में सफल हो जाने के बाद आपके प्रयास औऱ मेहनत ही आपको एक अच्छे एथिकल हैकर के तौर पर स्थापित कर सकते है।

    बेसिक से शुरू करें

    हैकिंग सीखने का सबसे अच्छा तरीका है कि बेसिक से शुरूआत करें। इसके लिए बहुत सी किताबें उपलब्ध हैं। हैकर बनने के लिए जरूरी स्किल, एप्टिट्यूड और पूरी प्रक्रिया को इन किताबों के जरिए बेहतर ढंग से समझा जा सकता है। कंप्यूटर प्रोग्रामिंग और सिक्योरिटी नेटवर्क की जानकारी भी होनी चाहिए। इसके लिए इंटरनेट भी एक अच्छा स्त्रोत है।

    जरूरी एप्टीट्यूड

    एक अच्छा एथिकल हैकर वही बन सकता है, जो कंप्यूटर सैवी औऱ गैजेट फेंडली हो। आप में एनालिटिकल थिंकिंग और प्रॉब्लम सॉल्विंग क्षमताओं जैसे एप्टिट्यूट होने बेहद जरूरी है।

    एप्टीट्यूट टेस्ट का प्रारूप

    एथिकल हैकिंग के लिए डिजाइन किए गए एप्टीट्यूट टेस्ट आपके लॉजिकल कॉन्सेप्ट्स को परखने का काम करते है। सिस्टम , सिक्योरिटी, नेटवर्किंग, इंटरनेट आदि की सामायिक जानकारी आपको मुंहजुबानी याद होनी चाहिए। तकनीकी तौर पर बेहद स्किल्ड होना भी अनिवार्य है।

    सीईएच की परीक्षा में सात सेक्शन से सवाल पूछे जाते हैं । इनमें बैकग्राउंड (नेटवर्किंग तकनीक, सिस्टम तकनीक , कम्युनिकेशन प्रोटोकॉल, मालवेयर ऑपरेशन आदि) एनालिसिस, एसेसमेंट (डेटा एनालिसिस, सिस्टम एनालिसिस, रिस्क एसेसमेंट आदि) सिक्योरिटी (सिस्टम सिक्योरिटी कंट्रोल, फायरवॉल्स आदि) दूल्स , डेटाबेस स्ट्रक्चर आदि, मेथडोलॉजी (क्रिप्टोग्राफी, सिक्योरिटी टेस्टिंग मेथोडोलॉजी आदि), रेगुलेशन , पॉलिसी औऱ एथिक्स से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है।

    सर्टिफेकेशन

    हैकर बनने के लिए सीईएच सर्टिफिकेशन पेशेवर होना जरूरी है। इसके अलावा लाइनेक्स, सर्टिफिकेशन, नेटवर्क्स और सीआईएसएसपी सर्टिफिकेशन का होना जरूरी है।

    कैसे मिलेगी सही सलाह

    एथिकल हैकिंग का कॉन्सेप्ट भारत में अभी भी बहुत ज्यादा विस्तृत नहीं है। बहुत चुनिंदा छात्र इस क्षेत्र में करियर बनाने की दिशा में सोचले हैं। ऐसे में जो लोग भी इस क्षेत्र का रूख करना चाहते हैं उन्हें किसी ऐसे व्यक्ति से ही सलाह लेनी चाहिए, जो एक सर्टिफाइड एथिकल हैकर या लाइसेंस्ड पेनिट्रेशन टेस्टर हो। वह इस करियर के सभी पहलुओ को समझा पाने में किसी से भी ज्यादा समर्थ होगा।

    कैसे पहुंचे इन लोगों तक

    एथिकल हैकर से सलाह लेने के लिए आप लिंक्डइन जैसे प्रोफेशनल नेटर्वक पर ऐसे लोगों की खोज कर सकते हैं। साथ ही ग्लासडोट डॉट,कॉम जैसी वेबसाइट पर भी मदद ले सकते है।

    ये भी पढ़ें

    इन संस्थानों से खुलता है मर्चेंट नेवी में जाने का रास्ता

    कॉमर्स के कुछ ऑफबीट कोर्सेज

    दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट में फाइन आर्ट और करियर का कोलाज

    हिंदी पत्रकारिता का आधार और क्षेत्र है बेहद विशाल

     

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *