• Posted by admin on Date Nov 2, 2018
    40 Views No Comments

    Career in Film And Television : क्रिएटिव थिंकिंग व पैशन है तो यह फील्ड है आपके लिए

    Career in Film And Television

    Career in Film And Television : फिल्म और टीवी प्रोडक्शन को काफी कॉम्पीटेटिव फील्ड माना जाता है। पर इस फील्ड से जुड़ा एक फेक्ट यह भी है कि कि creative thinking, passion और strong determination रखने वाले के लिए opportunities की कोई कमी नहीं है।

    भारत में हर साल जहां हजारों मूवीज रिलीज होती है और टीवी पर उसे भी कई गुना शोज दिखाई जाती हैं वहां इस इंडस्ट्री से जुड़ी करियर अपॉर्च्युनिटी पर डाउट नहीं किया जा सकता है। इस फील्ड में आप अपने टैलेंट को बखूबी दिखाने का मौका मिलता है।

    टीवी या फिल्म प्रोडक्शन फील्ड उन लोगों के लिए बेस्ट ऑप्शन है जो क्रिएटिव थिंकर्स होते है। फिल्म और टेलीविजन प्रोड्यूसर का काम आर्टिस्टिक और टेक्निकल , दोनों ही एरियाज को मैनेज करना होता है। यहां आपको बजट, स्टाफ रिक्रूटमेंट , स्क्रिप्ट डवलपमेंट्स जैसी र्क्वॉयरमेंट्स को सुपरवाइज करना होता है।

    प्रोड्यूसर को पूरे प्री प्रोडक्शऩ और पोस्ट प्रोडक्शन प्रोसेस पर भी ध्यान रखना होता है। आप कह सकते हैं कि टीवी या फिल्म प्रोड्यूसर ही एक तरह से कंपनी का मैनेजिंग डायरेक्टर होता। हालांकि फिल्म्स, टेलीविजन और डॉक्यूमेंट्री प्रोड्यूसर का काम एक दूसरे से काफी अलग होता ।

    ऐसे हो आपका व्यक्तित्व

    • आपका हाइली ऑर्गनाइज्ड होना जरूरी है।
    • आपमें क्रिएटिविटी की कोई कमी ना हो, विजुअल सेंस अच्छा हो, कम्यूनिकेशन स्किल्स और एडमिनिस्ट्रेटिव स्किल्स भी अच्छे होने चाहिए।
    • मल्टी टास्किंग होने के साथ साथ प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स का होना भी जरूरी है
    • पॉजिटिव एटीट्यूट के साथ-साथ प्रेशर में सिचुएशन को हैंडल करना आना चाहिए।
    • आप टीम प्लेयर हों और अपने को- वर्कर्स, कलीग्स के साथ अच्छी तरह से कोऑर्डिनेट कर लेते हों। लीडरशिप क्वॉलिटी का होना भी जरूरी है।
    • आपको दूसरों के टैलेंट का सही यूज करना आना चाहिए।
    • ऑड ऑवर्स में भी काम करने के लिए रेडी रहते हों।

    एलिजिबिलिटी

    किसी भी बेसिक टेक्निकल कोर्स के लिए एलिजिबिलिटी बारहवीं होती है और बाकी कोर्सेज के लिए कैंडीडेट का ग्रेजुएट होना जरूरी है। कई इंस्टीट्यूट्स कैंडीडेट का टैलेंट और केपेबिलिटीज जानेने के लिए इंटरव्यू राउंड भी कंडक्ट करते हैं। इस फील्ड में आप डिग्री, डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा और किसी स्पेसिफिक एरिया में स्पेशलाइजेशन के लिए सर्टिफिकेट कोर्स भई ऑफर किए जाते है। यह स्पेशलाइजेशन प्रोडक्शन, डायरेक्शन, एडिटिंग , सिनेमेटोग्राफी, कैमरा हैंडलिंग फिल्म प्रोसेसिंग, एनिमेशन , एक्टिंग , साउंड इंजीनियिरंग, मेकअप और फोटोग्राफी जैसे और भी एरियाज में की जा सकती है।

    प्लेसमेंट

    किसी रेप्युटेड इंस्टीट्यूट से अपना कोर्स पूरा करने के बाद किसी प्रोडक्शन कंपनी, फिल्म स्टूडियो, एडवर्टाइजिंग एजेंसी और गवर्नमेंट फिल्ममेकिंग डिपार्टमेंट को ज्वॉइन कर सकते हैं। या फिर इंडीपेंडेंटली अपना काम शुरू कर सकते हैं। आप अपने करियर की शुरूआत फिल्म, टीवी प्रोड्यूसर, फिल्म टीवी डायरेक्टर, कैमरामैन, प्रोडक्शन डायरेक्टर, एडिटर , सिनेमेटोग्राफर या फोटोग्राफर के तौर पर कर सकते है।

    ये भी पढ़े

    NEET में 35 परसेंटाइल पाने वाले अभ्यार्थी को आयुष कॉलेजों में मिल सकेगा एडमिशन

    UPSC CDS (I) 2019 Exam : 3 फरवरी को होगा सीडीएस एग्जाम, ऐसे करें आवेदन

    RPSC RAS Pre Exam 2018 : आरपीएससी प्री परीक्षा परिणाम को चुनौती

    GPAT Registration 2019: कल से कर सकेंगे जीपीएटी के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

     

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *