• Posted by admin on Date Oct 25, 2018
    60 Views No Comments

    10+2 के बाद करें बीएड इंटिग्रेटेड कोर्स

    बीएड इंटिग्रेटेड कोर्स

    10+2 के बाद टीचर्स एजुकेशन में प्रवेश पाने के दो विकल्प है पहला 2 वर्षीय डीएलएड यानी डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन कोर्स ( D.El.Ed )  और 4 वर्षीय बीए-बीएड या बीएससी –बीएड कोर्स। स्कूल टीचिंग  दो प्रकार से की जा सकता है- प्राइमरी टीचिंग जिसके अंतर्गत शिक्षक क्लास 5 तक के स्टूडेंट्स के लिए नियुक्त किए जाते हैं और सेकंडरी टीचिंग जिसमें शिक्षक क्लास 6 से क्लास 12 तक के स्टूडेंट्स को पढ़ा सकते है।

    प्राइमरी टीचर बनने के लिए आफको डीएलएड कोर्स(D.El.Ed )करना होता है । जिसमें प्रवेश की न्यूनतम योग्यता किसी भी विषय में 10+2 की हो। वही सेकेंडरी टीचिंग में जाने के लिए दो रास्ते खुलते है एक ये कि किसी एक विषय में ग्रेजुएशन करे और उसके बाद दो वर्ष का बीएड कार्यक्रम । वहीं दूसरा यह तरीका है कि आप 10+2 के बाद सीघ बीएड इंटीग्रेटेड कोर्स में एडमिशन ले।

    इंटिग्रेटेड रोर्स होने का फायदा यह होगा कि आपको यहां पाच साल की जगह चार वर्ष में ही कोर्स पूरा हो जाएगा। इंटिग्रेटेड कोर्स की पूरी सूची नेशनल काउंसिल पर टीचर एजुकेश (एनसीटीई ) की वेबसाइट पर उपलब्घ है। हालांकि अभी इंटिग्रेटेड कोर्स का चलने भारत में कम है। लेकिन भविष्य में सरकार इसे और अधिक संस्थानों में लागू करने का मन बना रहा है।

    इस चार वर्षीय इंटिग्रेजेड कोर्स मे भी दो विकल्प है। 10+2 में आट्स लेने वाले स्टूडेंट्स बीए-बीएड और साइंस करने वाले स्टूडेंट्स बीएससी बीएड कोर्स कर सकते है।

    ये भी पढ़ें

    SSC Vacancy :विभिन्न पदों के लिए निकली वैकेंसीस करें आवेदन

    Canara Bank PO Recruitment 2018: PO का नोटिफिकेशन जारी, ये है अंतिम तिथि

    MPSSDEGB Recruitment 2018 :मध्यप्रदेश में मैनेजर समेत 77 पदों पर भर्ती

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *