• Posted by admin on Date Oct 2, 2018
    389 Views No Comments

    हिंदी पत्रकारिता का आधार और क्षेत्र है बेहद विशाल

    Hindi-Journalism

    नई दिल्ली

    एक समय था जब हिंदी पत्रकारिता की पढ़ाई हिंदी विभाग में ही होती थी, लेकिन समय के साथ पत्रकारिता को एक स्वतंत्र विषय के रुप में विकसित कर इसमें नए पाठ्यक्रम शुरू किए गए हैं।  भारत जैसे देश में,जहां हिंदी भाषी लोगों का वर्चस्व है , हिंदी पत्रकारिता का आधार औऱ क्षेत्र बेहद विशाल है।  यदि दक्षिण भारत, उत्तर पूर्व और महानगरों की बात छोड़ दे तो अन्य प्रांतों में हिंदी पत्रकारिता का ही दबदबा है। हिंदी अखबारों के बड़े सर्कुलेशन से यह बात आसानी से समझी जा सकती है, इसलिए अगर हिंदी भाषा पर आपकी पकड़ है औऱ लेखन क्षमता भी अच्छी है तो यह क्षेत्र आपके लिए ही है। हालांकि स्वयं को सफल हिंदी पत्रकार के रुप में स्थापित करने के लिए आपको लंबा संघर्ष करना पड़ सकता है। जहां तक संस्थानों की बात है, निम्नलिखित पांच विकल्पों पर नजर डालें।

    आईआईएमसी

    दिल्ली स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्यूनिकेशन देश के उत्कृष्ट मीडिया संस्थानों में से एक है। यहां से स्नातक के बाद एक वर्षीय पोस्ट ग्रेजुएशन हिंदी प्रत्रकारिता का पाठ्यक्रम किया जा सकता है। कुल 62 सीटों पर नामांकन के लिए लिखित परीक्षा व साक्षात्कार के बाद छात्रों का चयन किया जाता है। विशेष जानकारी के लिए आईआईएमसी की वेबसाइट को विजिट कर सकते है।

    जामिया मिल्लया इस्लामिया

    दिल्ली का यह संस्थान भी मीडिया के क्षेत्र में उत्कृष्ट माना जाता है, जहां प्रत्येक वर्ष 40 छात्रों का एक वीर्षीय पोस्ट ग्रेजुएट टीवी जर्नलिज्म (हिंदी) में प्रवेश के आधार पर दाखिला लिया जाता है। विशेष जानकारी जामिया मिलिया इस्लामिया पर उपलब्ध है।

    बीएचयू

    बनारस हिंदी यूनिवर्सिटी से भी हिंदी पत्रकारिता में मास्टर्स डिग्री कोर्स उपलब्ध है। इन मास कम्यूनिकेशन कोर्स में दाखिला के लिए विश्वविद्यालय के जर्नलिज्म विभाग से संपर्क करें।

    नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी

    पटना स्थ्ति नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता पाठ्यक्रम एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। स्नातक के बाद एक वषीय पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा पाठ्यक्रम बेहद कम शुल्क पर इस विश्वविद्यालय से कराया जाता है। मीडिया हाउस-देश के तमाम स्तरीय और अग्रणी टेलीविजन मीडिया चैनल अपना मीडिया संस्थान चलाते हैं जहां वे हिंदी पत्रकारिता का पाठ्यक्रम संचालित करते है

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *