• Posted by admin on Date Aug 19, 2018
    94 Views No Comments

    CBSE: लेट हुए तो बोर्ड एग्जाम नहीं दे सकेंगे स्टूडेंट्स

    cbse sample paper and marking scheme

    सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंड्री एजुकेशन (सीबीएसई) अगले साल से बोर्ड एग्जाम के लिए नियमों को और भी सख्त बनाने जा रहे है। सभी कॉम्पीटिशऩ एग्जाम जैसे कि ज्वाइंट एंट्रेस एग्जामिनेशन (जेईई), नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्ट (नीट) हो या फिर कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) की तर्ज पर 10वीं व 12वीं के एग्जाम में भी लेट एंट्री पर पूरी तरह से रोक लगा दी जाएगी। सभी स्टूडेंट्स को 10.15 बजे तक अपनी सीटों पर बैठ जाना होगा।

    मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि परीक्षा को अधिक सुरक्षित बनाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। लेट एंट्री पर बैन और अन्य उपाय जैसे डबल कोड वाले पेपर इसी प्रयास का हिस्सा है।

    मौजूदा नियम के मुताबिक, एग्जाम सेंटर पर एंट्री का ऑफिशल टाइम 9.30 बजे है और प्रश्नपत्र 10.15 से बांटा जाता है। 15 मिनट प्रश्नपत्र को पढ़ने के लिए दिया जाता है। हालांकि परीक्षा 10.30 बजे शुरू होती थी लेकिन मार्च-अप्रैल बोर्ड 2018 परीक्षाओं तक छात्रों को 11.00 बजे और इमर्जेंसी एंट्री 11.15 तक थी जिसका फैसला केंद्र प्रमुख के विवेक पर निर्भर करता था।

    मंत्रालय के एक सूत्र ने बताया, ‘जेईई या नीट और कैट तक में काफी सख्त नियमों पर पालन किया जाता है। निर्धारित समय के बाद छात्रों को एंट्री नहीं दी जाती है। इससे परीक्षा की पूरी प्रक्रिया में सुधार आएगा जो हाल के दिनों में पेपर लीक्स की घटना के बाद विवादों में घिरी रही है।’

    ये भी पढ़ें

    डूडल 4 गूगल इंडिया प्रतियोगिता में ले हिस्सा, मिलेगी 5 लाख की स्‍कॉलरशिप

    68500 शिक्षक भर्ती का विज्ञापन हुआ जारी, 21 अगस्त से कर सकेंगे आवेदन

    अब इग्नू से कर सकेंगे एक्यूंपंचर में पोस्ट ग्रेजुएट सर्टिफिकेट कोर्स

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *