• Posted by admin on Date Dec 25, 2018
    73 Views 2 Comments

    BOARD EXAM TIPS: टाइम मैनेजमेंट अपनाएं, अच्छे अंक लाएं

    board exam tips

    Time Management For Board Exam : 10वीं और 12वीं बोर्ड एग्जाम की तिथि सीबीएसई द्वारा जारी कर दी गई है। ऐसे में स्टूडेंट्स को अब अपनी तैयारी को रफ्तार देने की जरूरत है। परीक्षा की तैयारी के बीच में Time Management निर्णायक साबित हो सकता है। स्टूडेंट्स को बोर्ड एग्जाम के बीच में प्रतियोगी परीक्षा का भी ध्यान रखने पड़ता है। ऐसे में टाइम मैनेजमेंट बहुत जरूरी है। आईए जानते है एग्जाम के दौरान कैसे टाइम मैनेजमेंट करें जिससे आप सफलता की ओर अग्रसर हो सकें।

    वरीयता सूची तैयार करें-ज्यादातर स्टूडेंट्स बड़ा सिलेबस देख कर घबरा जाते है, इसले सबसे पहले विषयों और टॉपिक की वरीयता के आधार पर एक सूची तैयार करें, जो यह बतेगी कि पहले किस टॉपिक को पढ़ा जाए।

    कैसे तय करें वरीयता- ज्यादा अंक के चैप्टर्स के रिवीजन में ज्यादा समय दें। यह कोई समझदारी नहीं कही जाएगी कि आपने मेहनत तो खूब की लेकिन सिलेबस के उस 20 फीसदी हिस्सों को नहीं पढ़ा या कम पढ़ा, जो अधिक अंको के थे।

    स्थित के अनुकुल बनो– हमने देखा है कि कुछ स्टूडेंट्स सुबह-सुबह तो कुछ देर रात पढ़ने में सहज होते है। अगर आप किसी वजह से नियत समय में नहीं पढ़ पा रहे हैं तो आपको अध्ययन के प्रति लचीला रूख अपनाना पड़ेगा। परीक्षा के दौरान पढ़ने के लिए इतना कुछ होता है कि हमें पढ़ाई के अनुकुल स्थिति का इंतेजार किए बैगर निरंतर पढ़ाई करते रहना चाहिए।

    खुद पर दबाव मत डालो– योजनाओं पर चलते हुए ध्यान रखएं कि आप खाने, सोने और आराम के लिए भी समय निकालें। लगातार पढ़ाई का बोझ लादने से धीरे-धीरे आपका ध्यान भटकने लगता है और पढ़ाई से मन उचट जाता है। पढ़ाई के दौरान ब्रैक लेना आपके दिमाग को तरोताजा बनाए रखेगा।

    अध्ययन के कुछ नुस्खे होंगे कारगर– पढ़ाई की कुछ ऐसी टेक्नीक्स मौजूद है जो टॉपिक्स को समझने और याद करने को आसान बना देती है।

    पोमोडोरा टेक्नीक– यह समय प्रबंधन की वह तकनीक है, जिसमें 25 मिनट पढ़ाई के बाद छोटा सा ब्रेक लेने के बाद फिर 25 मिनट अध्ययन को जारी रखा जाता है। इसकी पुष्टि हो चुकी है कि ये दिमाग को तेज बनाता है।

    माइंड मैपिंग – यह वह डायग्राम होता है, जिसे दिमाग जानकारियों को व्यवस्थित तरीके से याद रखने के लिए बनाता है। यह डायग्राम किसी एक कॉन्सेप्ट को बताने के बाद जानकारियों की दूसरी शाखाओं की ओर बढ़ता है। यह तकनीक जानकारियों को काफी देर तक याद रखने में मदद करती है।

    नीमॉनिक टेक्नीक– इसमें जटिल जानकारियां जैसे कोई कठिन नाम या सीक्वेंस को दिमाग में बैठाने के लिए उसे याद रहने वाले शब्दों से जोड़ कर याद करते हैं। जैसे रेनबों में कलर के क्रम को याद रखने के लिए VIBGYOR शब्द को याद रखा जाता है।

    ये भी पढ़ें

    AIIMS Rishikesh B.Sc. Admission 2019 : डेंटल असिस्टेंट और डेंटल हाइजीनिस्ट कोर्स में ले एडमिशन

    MPBSE Class 10th, 12th Timetable 2019: 10वीं 12वीं का टाईम टेबल जारी यहां देखे

     

     

  • 2 Replies to “BOARD EXAM TIPS: टाइम मैनेजमेंट अपनाएं, अच्छे अंक लाएं”

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *