• Posted by admin on Date Sep 2, 2018
    125 Views No Comments

    एनआईएन : न्यूट्रिशन में बेहतरीन करियर

    national institute of nutrition hyderabad

    एनआईएन यानी नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अधीन एक प्रमुख संस्थान है, ये न्यूट्रिशन के क्षेत्र में शिक्षा और शोध के लिए अपनी खास पहचान रखता है। यहां न्यूट्रिशन से संबंधित अनेक कोर्स हैं।

    हैदराबाद में स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यट्रिशन यानी एनआईए की स्थापना 1981 में हुई थी। सर रोबर्ट मैक कैरिसन ने विटामिन बी 1 की कमी से होने वाली बीमारी बेरीबेरी की पूछताछ ईकाई के रुप में इसकी शुरूआत की थी। तब ये तमिलनाडु के कुन्नर स्थित पास्लर इंस्टीट्यूट में एक कमरे में शुरू हुआ था। अगले सात सालों में ही यह पोषण की कमी से होने वाली बीमारियों का पूछताछ केंद्र बन गया। 1928 में इसे न्यूट्रिशन रिसर्च लेबोरेटरी के रुप में अलग संस्थान बना दिया गया। डॉ.कैरिसन को इसका पहला निदेशक बनाया गया। 1958 में इस संस्थान को हैदराबाद शिफ्ट किया गया। स्वर्ण जयंती वर्ष के मौके पर  1969 में इस संस्थान को नया नाम दिया गया- नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन । इसके अधीन आज कई सेंटर संचालित हो रहे है, जिनमें शिक्षण औऱ शोध से लेकर अनेक तरह के काम होते है।

    कोर्स व सीटे

    यहां यूं तो फुलटाइम कोर्स एक ही है लेकिन इसके अलावा कई छोटे-छोटे कोर्स भी संचालित किए जाते है। यहां के दो  वर्षीय कोर्श का नाम है एमएससी (एप्लाइड न्यूट्रिशऩ)। इस कोर्स में सीटों की संख्या 16 है और यह वारंहल स्थित कॉलोजी नारायण राव यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज से मान्यता प्राप्त है। इसके अलावा 10 हफ्ते का एक कोर्स है न्यूट्रिशन में पोस्ट ग्रेजुएट सर्टिफिकेट। संस्थान द्वारा इनके अलावा कुछ अन्य छोटे- छोटे कोर्स भी संचालन करता है।

    इंस्टीट्यूट में है खास

    राष्ट्रीय महत्व के इस संस्थान में शिक्षण और शोध के लिए आने वाले स्टूडेंट्स के लिए तमाम सुविधाएं है। 1959 में स्थापित यहां कि लाइब्रेरी में आज 18 हजार से भी अधिक पुस्तकें है, जर्नलों की 37 हजार से अधिक कॉपी हैं और 13 हजार से अधिक रिपोर्ट हैं। यहां नियमित रूप से आने वाले देशी-विदेशी जर्नलों की संख्या 380 से अधिक है। शोध कार्य़ के लिए अनेक लैब है और छात्र-छात्राओं के ठहरने के लिए इंटरनेशनल हॉस्टल है।

    स्कॉलरशिप

    संस्थान में प्रवेश के लिए चुने जाने वाले स्टूडेंट्स के लिए अनेक तरह की स्कॉलरशिप के रास्ते खुल जाते है।

    प्लेसमेंट

    संस्थान की अंतराष्ट्रीय छवि यहां आने वाले स्टूडेंट्स के भविष्य को सुनिश्चित कर देती है। संस्थान के उच्च स्तरीय प्रशिक्षण शैल की हा खूबी है कि यहां के स्टूडेंट्स की खूब मांग रहती है।

     

    ये भी पढ़ें

    वॉयस ओवर आर्टिस्ट में बनाए करियर, जाने जरूरी योग्यता

    Homeopathy : करियर को दे एक नई उड़ान

    नेचुरोपैथी : करियर की संजीवनी, कर सकते हैं ये कोर्स

    NIA : नेशनल इंश्योरेंस ऐकाडमी से करें करियर का इंश्योरेंस

     

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *