• Posted by admin on Date Apr 12, 2019
    73 Views No Comments

    NEET 2019 TIPS : नीट एग्जाम क्लीयर करने के लिए इन टिप्स को करें फॉलो

    how to prepare for neetexam

    NEET 2019 TIPS नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET 2019 ) का आयोजन 5 मई 2019 को देशभर के विभिन्न एग्जाम सेंट्ररों पर क्या जाएगा। NEET 2019 नेशेनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा देशभर के कॉलेजों में मेडिकल और डेंटल कोर्स में प्रवेश के लिए आयोजित की जाता है। आपको बता दे कि नीट एग्जाम ऑफलाइन मोड में आयोजित की जाती  है। परीक्षा में 180 मल्टीपल च्वाइंस क्वेश्चन पूछे जाते है। जिसके लिए तीन घंटे का समय दिया जाता है।

    फिजिक्स, केमिस्ट्री, जूलॉजी और बॉटनी से 45 MCQ पूछे जाते  हैं। इसके अलावा, 4 अंक सही उत्तर के लिए दिए जाते हैं जबकि 1 अंक गलत उत्तर के लिए काटे जाते हैं। ऐसे सवाल जिसका कोई जवाब नहीं दिया गया है वैसे सवाल के मार्क्स नहीं काटा जाता है।

    ये तो बात थी एग्जाम और एग्जाम पैटर्न के बारे में । लेकिन इसके साथ हमे यह भी याद रखना चाहिए की एग्जाम में अब एक महीना से भी कम का समय रह गया है। यहां हम आपके लिए बचे हुए समय का उपयोग करने और अपने स्कोर को अधिकतम करने के लिए एक असरदार रणनीति लेकर आए है।

    NEET 2019 TIPS : अगले 30 दिन आपको बिना लक्ष्य से भटके कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। लास्ट मंथ के लिए भी एक टाइमटेबल बनाएं ताकि आप अपनी तैयारी को व्यवस्थित और सुचारू रुप से कर चकें। इस तरह आप हर दिन क्या करना है इस बारे में सोचकर समय खराब करने से बच सकेंगे। टाइम टेबल बनाते समय इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

    रीविजन: एग्जाम से पहले रीविजन बहुत जरूरी है। अभी तक आपने जो कुछ भी पढ़ा है उसको रीविजन करने क समय आ गया है। हर विषय के लिए 2- 3 घंटा दें। पढ़ां हुआ चीज को ही पढ़ें। नया पढ़कर स्ट्रेस लेने की जरूरत नहीं है।

    मॉक टेस्ट: आखरी के कुछ दिनों में मॉक टेस्ट पर फोकस करें। मॉक टेस्ट ये न सिर्फ आपकी कमी का पता चलेगा बल्कि ये रीविजन कितना हुआ ये भी बताने में सहायक है। मॉक टेस्ट हमारे वीकनेस और स्टॉग प्वाइंट को उजागर करता है। मॉक टेस्ट को एग्जाम की तरह देने की कोशिश करे। इस दौरान पूरे तीन घंटे ले और टेस्ट का बिना किसी तनाव के साथ दे।

    विश्लेषण: एक मॉक में अपने प्रदर्शन का विश्लेषण उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि एक मॉक देना। आपके द्वारा की गई त्रुटियों पर ध्यान दें। मूर्खतापूर्ण गलतियों को छोड़कर, अन्य गलतियों पर खास ध्यान दे। साथ ही ये भी देखे की कौन से विषय को रीविजन करना है या उसे छोड़ देना है।

    पिछले वर्ष के पेपर: सुनिश्चित करें कि आप पिछले 5 वर्षों के पेपर को सॉल्व करके एक बार देख चुके होंगे। इससे आपको प्रश्नों की विविधता और कठिनाई का पता चलेगा.

    एनसीईआरटी की किताबों में ज्यादातर अवधारणाओं को अच्छी तरह से समझाया गया है। आप अपने स्वयं के नोट्स से अध्ययन कर सकते हैं या कोचिंग सेंटरों से सामग्री का अध्ययन कर सकते हैं लेकिन बुनियादी बातों का रीविजन करने के लिए NCERT पुस्तकें पर्याप्त होंगी। कुछ भी रटने की कोशिश न करें। यदि आपको याद रखने में मुश्किल होती है, तो संक्षिप्त नोट्स बनाएं या आगे बढ़ें। इस समय तनाव लेने की बिलकुल भी जरूरत नहीं है।

    उन विषयों की सूची बनाएं जिन्हें आप कवर करेंगे। यह कुछ विषयों को उनके महत्व के साथ-साथ अपनी ताकत और कमजोरियों के आधार पर प्राथमिकता देने के लिए विवेकपूर्ण है।

    यहां, हमारे पास पिछले वर्ष के पेपरों में उनके वेटेज के आधार पर कुछ सबसे महत्वपूर्ण विषयों की सूची है:

    neet previously asked question
    neet previously asked question

     

    ये भी पढ़ें

    12वीं के बाद भी मिल सकती है सरकारी नौकरी, बन सकते हैं अफसर

    NEET UG 2019 : समय के हिसाब से बांट लें सिलेबस

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *