• Posted by admin on Date Sep 30, 2018
    60 Views No Comments

    जर्नलिज्म में करियर बनाने से पहले इन पहलुओं पर डाले नजर

    career in journalism

    नई दिल्ली

    जर्नलिज्म की पढ़ाई शुरू करने से पहले कुछ सवालों के जवाब पहले खुद से पूछ लें और उस आधार पर जानें कि आपके लिए यह सही विकल्प है  या नहीं।

    जिज्ञासु

    कुल लोग प्राकृतिक रूप से बेहद जिज्ञासु होते हैं औऱ बातों की तह तक पहुंचने का अथक प्रयास करते हैं। अगर आप ऐसे लोगों की श्रेणी में आतें हैं तो जर्नलिज्म आपके लिए सही करियर है। आपका व्यक्तित्व ऐसा होना चाहिए कि आप उन लोगों से भी जानकारियां निकाल सकें जो आसानी से कुछ भी बताने को तैयार नहीं होते।

    कहानी बुनना

    क्या आपको यह जानने में दिलचस्पी है कि किसी व्यक्ति को क्या विश्वास दिलाता है औऱ इस विश्वास को जीतकर आप उससे परत दर परत कहानी जान पाते हैं या नहीं। क्या आपकी बात करने से ज्यादा सुनने में दिलचस्पी है किसी की कहानी को अंत तक सुनने में आपको मजा आता है और उसी कहानी को सुनने में आपको मजा आता है और उसी कहानी के हूबहू कह पाने में आप समर्थ हैं तो आपके लिए यह क्षेत्र बिल्कुल सही है।

    स्किल्स

    पत्रकारों पर किए गए एक सर्वें के मुताबिक पत्रकारिता में सफल होने के लिए आप में कुछ अनिवार्य कौशल होने जरूरी है जैसे- सटीकता, जिज्ञासा , सही व्याकरण के साथ अच्छा लेखन, तनाव व डैडलाइन को संभालने की काबिलियत , बेहतरीन न्यूज सेंस, करेंट अफेसर्स, संपर्क बनाने औऱ स्त्रोत विकसित करने का सामर्थ्य।

    एप्टीट्यूट टेस्ट

    भारत के प्रतिष्ठित जनसंचार संस्थानों में प्रवेश परीक्षा के जरिए एडमिशन मिलता है। इस परीक्षा के जरिए अभ्यार्थी के जर्नलिज्म के लिए जरूरी एप्टिट्यूड औऱ कौशल का जांचा जाता है। इनमें निम्न स्किल औऱ एप्टिट्यूट शामिल होते हैं।

    समाचार या फीचर लेखन

    अभ्यार्थी को दिए गए तथ्यों के आधार पर समाजार या फीचर लिखाना होता है। इसके जरिए अभ्यार्थी की लेखन शैली के साथ ही न्यूज सेंस का भी मूल्याकंन किया जाता है।

    अनुवाद कुशलता

    जर्नलिज्म में अनुवाद का बहुद महत्व है । खबरें हिंदी या इंग्लिश किसी भी भाषा में मिल सकती हैं। उन्हें अपनी भाषा में बताने के लिए अनुवाद करना आना बहुत जरूरी है। परीक्षा में हिंदी से इंग्लिश या इंग्लिश से हिंदी से अनुवाद करने की कुशलता को जांचा जाता है।

    करेंट अफेयर्स की जानकारी

    एक जर्नलिस्ट से उम्मीद की जाती है कि उसे सभी क्षेत्रों की खबरों के बारे में पता होना चाहिए। इसी कुशलता को परखने के लिए पेपर में करंट अफयेर्स से जुड़े , ऑब्जेक्टिल व डिस्क्रप्टिव सवाल पूछे जाते है।

    बदल रहा है ट्रेंड

    अब जर्नलिज्म के क्षेत्र में करियर बनाने वाले अभ्यार्थी को बहुत सी अन्य. स्किल्स जैसे वेब के लिए लेखन, सोशल, मीडिया, फोटोग्राफी, ऑडियो- विजुअल रिकॉर्डिंग, पेज मेकिंग आदि की भी समझ होनी चाहिए।

    ये भी पढ़ें

    IITTM: यहां से कर सकते है ट्रैवल व टूरिज्म का कोर्स

    केंद्र ने SC/ST अभ्यार्थी के लिए PhD व MPhil की कटऑफ कम की

    एनआईएन : न्यूट्रिशन में बेहतरीन करियर

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *