• Posted by admin on Date Sep 29, 2018
    55 Views No Comments

    पीएम मोदी ने कहा: शिक्षा को समाज से जोड़ने की जरूरत

    student

    नई दिल्ली

    शनिवार को विज्ञान भवन में आयोजित कॉन्फ्रेंस ऑन अकाडमिक लीडरशीप ऑन एजुकेशन फॉर रिसर्जेस को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि शिक्षा को समाज से जोड़ने की जरूरत है।  सरकार ने आईआईएम जैसे संस्थानों को स्वायतत्ता देने की शुरूआत कर दी है। अब आईआईएम अपना कोर्स करिकुलम, टीचर अपॉइंटमेंट, बोर्ड मेंबर का चयन आदि खुद कर सकेंगा।

    कॉन्फेंस के दौरान उन्होंने कहा कि यूजीसी ने ग्रेडेड ऑटोनॉमी रेग्युलेशंस भी जारी किए हैं। इसका उद्देश्य शिक्षा के स्तर को सुधारना तो है। पीएम ने कहा कि इस रेग्युलेशन की वजह से देश में 60 उच्च शिक्षण संस्थानों और विश्वविद्यालयों को ग्रेडेड ऑटोनॉमी मिली है।

    पीएम ने कहा कि आज देश में करीब 900 विश्वविद्यालय और उच्च शिक्षण संस्थान हैं। साथ ही देश में लगभग 40 हजार कॉलेज हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा को लेकर एक ऐसी इंटरलिंकिंग होनी चाहिए कि समाज और संस्थान को जोड़े और संस्थानों को भी आपस में जोड़े और सब मिलाकर राष्ट्र के सपनों के साथ जोड़े। पीएम ने कहा कि समाज की जरूरत को ध्यान में रखकर अगर विद्यार्थी उच्च विचार रखेगा तो बड़ा बदलाव आ सकता है।

    ये भी पढ़ें

    CBSE : 10वीं और 12वीं के बोर्ड एग्जाम की तिथि जल्द होगी घोषित

    दिल्ली यूनिवर्सिटी में कई कॉलेजों में नए कोर्स होंगे शुरू

    CBSE :  थ्योरी-इंटरनल असेसमेंट दोनों में पास होना जरूरी

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *