• Posted by admin on Date Oct 1, 2018
    60 Views No Comments

    ओशनोग्राफी में करियर का रोमांच

    oceanography

    ओशनोग्राफी विशेषज्ञता से जुड़ा है। समुद्री संसाधनों की खोज करना , उन्हें मनुष्य के लिए उपयोगी बनाना और जरूरी जानकारियों से रूबरू कराने का जिम्मा ओशानोग्राफर का होता है। ओशनोग्राफी में कई विषय शामिल है। केमिकल ओशनोग्राफी, एप्लाईड ओशनोग्राफी और फिजिकल ओशनोग्राफी, केमिकल ओशनोग्राफर समुद्री रासायनिक प्रक्रियाओं का अध्ययन करते हैं।

    जरूरी स्किल्स

    • बेहतरीन वैज्ञानिक और गणितीय स्किल्स हों
    • विभिन्न क्षेत्रों के समुद्र, नदियों आदि के प्रकारों की जानकारी होनी चाहिए
    • समस्याओं को सुलझाने व व्यावहारिक कुशलता बेहतर हो।
    • शोध कर सकने की क्षमताएं अनिवार्य तौर पर हो
    • कम्युनिकेशन स्किल बेहतर होने के साथ ही रिमोट सेंसिंग, डिजिटल मैपिंग और कंप्यूटर मॉडलिंग जैसी तमाम कंप्यूटर एप्लिकेशन की पूरी जानकारी हो।
    • मरीन एंवायरमेंट विषय की गहरी समझ बहुत जरूरी है।
    • किसी खात तरह की खोज के बारे में बताने के लिए आपकी लेखन कुशलता का बेहतर होना आनिवार्य है।

    सैलरी

    भारत में ओशनोग्राफर को शुरूआती सैलरी 20,000 से 30,000 रुपए प्रतिमाह मिलती है। इसके बाद सैलरी आपके अनुभव और जिस क्षेत्र में आपका स्पेशलाइजेशन है उस पर निर्भर करती है। वहीं यूके, यूएस,फ्रांस जैसे देशों में ओशनोग्राफी को मिलने वाली सैलरी 50 लाख रुपए सालाना तय मिल सकती है।

    योग्यता

    विभिन्न कॉलेज व यूनिवर्सिटीज में पोस्ट ग्रेजुएशन और पीएचडी स्तर के कोर्स उपलब्ध है।  प्रोस्ट ग्रेजुएशन स्तर पर प्रवेश पाने के लिए जूलॉजी, बॉटनी, केमिस्ट्री , फिशरी साइंस , अर्थ साइंस, फिजिक्स एग्रीकल्चर, माइक्रोबायोलॉजी में बैचलर डिग्री होना चाहिए।

    एमटेक में प्रवेश पाने के लिए सिविल इंजीनियरिंग या एंवायर्नमेंट साइंस में कम से कम 60 प्रतिशत अंकों के साथ बीटेक या एमएससी डिग्री न्यूनतम योग्यता है। पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स में प्रवेश के लिए विभिन्न संस्थान प्रवेश परीक्षा का आयोजन करते है। इसके आधार पर तैयार की गई मेरिट लिस्ट के मुताबित अभ्यार्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है।

    प्रमुख कोर्स (पीजी कोर्सज)

    • मास्टर ऑफ साइंस इन ओशनोग्राफी
    • मास्टर ऑफ साइंस इन मरीन बायोलॉजी
    • एमटेक इन ओशन इंजीनियरिंग
    • एमटेक इन ओशन टेक्नोलॉजी

    डॉक्टोरल कोर्सेज

    • एमफिल इन मरीन बायोलॉजी
    • एम.फिल इन केमिकल ओशनोग्राफी
    • पीएचडी इन ओशनोग्राफी

    संभावनाएं

    निजी क्षेत्रों , सरकारी उपक्रमों व संस्थानों में नौकरी के कई मौके उपलब्ध है। समुद्री संसाधनों पर निर्भर उद्योग, कंपनियों, शोध विभागों, ओशनोग्राफी संस्थानों में तकनीकी अधिकारी , सहायक अधिकारी, वैज्ञानिक, रिसर्चर समेत कई दूसरे पदों पर ओशनोग्राफर नियुक्त किए जाते है। इसके अलावा मरीन आर्कियोलॉजिस्ट मरीन और ओशन इंजीनियर, मरीन पॉलिसी एक्सपर्ट, मरीन बायोलॉजिस्ट आदि पदों पर भी काम मिलता है।

    ये भी पढ़ें

    साइबर लॉ चुनौतियों से भरा करियर

    भारत के टॉप लॉ यूनिवर्सिटी , देखें रैंकिंग

    ओपन यूनिवर्सिटी: करियर को दे एक नई उड़ान

    भारत के टॉप यूनिवर्सिटी जहां हर कोई चाहता हैं एडमिशन लेना

     

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *