• Posted by admin on Date Oct 18, 2018
    41 Views No Comments

    फार्माकोविजिलेंस: दवाईयों के साथ परखे करियर

    career in Pharmacovigilance

    Career in Pharmacovigilance : हमारे हेल्थ सेक्टर में बहुत सी अनियमितताएं है जिसमें दवाईयों की क्वॉलिटी भी एक इश्यू है। लोगों में अवेयरनेस की कमी और सुस्त सिस्टम होने के कारण बीमारी होने पर हमें कभी कभार ऐसी दवाइयां लेनी पड़ती है जो इंटरनेशनल स्टैंडर्ड पर खरी नहीं उतरतीं । इन कमियों को दूर करने के लिए सरकार के साथ- साथ दवा कंपनियां भी कई रेग्युलेटर्स का इस्तेमाल करती है जो दवा के एफेक्ट्स को ऑब्जर्व करने में एक्सपर्ट होते है और  उसके बेसिस पर कंपनियों को फीडबैंक देते है। ऐसे एक्सपर्ट्स को हम कहते हैं फार्माकोविजिलेटर्स।

    क्या है फार्माकोविजिलेंस (Pharmacovigilance)

    फार्माकोविजिलेंस का सीधा सा मतलब है मार्केट में भेजे जाने से पहले दवाइयों की जांच पड़ताल करना । इसके अर्तगत प्रोफेशनल्स पेशेंट्स पर दवाओं के असर को पहचानकर उसके एफेक्ट्स को मापते हैं और उसकी पुष्टि करने के बाद इसकी पूरी जानकारी दवा कंपनियों को देते है।इस जानकारी के आधार पर ही दवा कंपनियां अपने प्रोडक्ट में बदलाव करती हैं ताकि उन्हें और बेहतर व सुरक्षित बनाया जा सके।

    12वीं के बाद कर सकते है कोर्स ( course after 12 )

    इस फील्ड में करियर बनाने के लिए 12वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी जैसे सब्जेक्ट होना जरूरी है। बारहवीं के बाद आप फार्मेसी, केमिस्ट्री से बीएससी कर सकते है। इसके बाद आप फार्मास्टिकल साइंसेज से पोस्ट ग्रेजुएट या फार्माकोविजिलेंस में डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करें।

    कैसी है वर्क प्रोफाइल

    एक फार्माकोविजिलेंटर बेसिकली लैब में दवाइयों में यूज होने वाले केमिकल्स को टेस्ट करता है। इसके बाद चुनिंदा  पेशेंट्स के मेडिकल पास्ट को स्टडी करके दी जाने वाली दवा के एफेक्ट्स को ऑब्जर्व करता है।  उसके सर्टिफिकेशन के बाद ही दवा को लार्ज स्केल पर बनाने का काम किया जाता है।

    करियर स्कॉप  (jobs in pharmacovigilance for freshers)

    आप बड़ी फार्मा कंपनियों में काम करके अपना करियर शुरू कर सकते है। इसके अलावा आफ गवर्नमेंट सेक्टर में ड्रग कंट्रोल और रिसर्च से जुड़े ऑर्गेनाइजेशंस में भी काम कर सकते हैं। इस फील्ड में फॉरेन कंट्रीन में जाकर काम करने के भी अच्छे चांसेज है।

    ये भी पढ़ें

    और भी हैं रास्ते इंजीनियरिंग के सिवाय

    IIPR : मनोविज्ञान की पढ़ाई के लिए उत्कृष्ट संस्थान

    IIDAA : कला के क्षेत्र में बेहतर प्रशिक्षण का केंद्र

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

Tags: