• Posted by admin on Date Aug 16, 2018
    138 Views No Comments

    CISCE: पेपर लीक से बचने के लिए स्कूलों में ऑनलाइन पहुंचेंगे प्रश्नपत्र

    cheating in up board exam

    काउंसिल फॉर दि इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) पेपर लीक के खतरों से निपटने के लिए तकनीक का इस्तेमाल करेगा। पूरे देश के स्कूलों में प्रश्नपत्र ऑनलाइन उपलब्ध कराए जाएंगे। इसका प्रयोग सत्र 2018-19 से कक्षा 9 व 11 की परीक्षा के माध्यम से किया जाना था। इस काम में आ रही तकनीकी खामियों को देखते हुए फिलहाल इसे टाल दिया गया है। अब इसे सत्र 2019-20 में लागू करने की घोषणा की गई है।

    बोर्ड ने नवंबर और फरवरी में कक्षा 9 व 11 की परीक्षा पूरे देश में एक साथ कराने का निर्णय लिया था। इसके लिए बोर्ड ने स्कीम भी जारी कर दी थी। स्कूलों को बताया गया था कि उन्हें पेपर ऑनलाइन मिलेंगे। पूरे देश में एक साथ परीक्षा के कारण स्कूलों के लिए समय से सिलेबस तैयार करना भी चुनौती बन गया था। अभी गृह परीक्षा होती थी जो स्कूल अपने स्तर पर तय करते थे।

    तकनीक के ट्रायल की थी तैयारी 
    बोर्ड 10वीं व 12वीं की परीक्षा के लिए कक्षा 09 व 11 में तकनीक का इस्तेमाल ट्रायल के तौर पर करना चाहता था। इसमें ऑनलाइन पेपर स्कूलों को भेजे जाने थे। कूट संदेशों में इन पेपरों को भेजा जाना था जो बाद में सही भाषा में बदल जाते। बोर्ड की ओर से कहा गया है कि यह तकनीक अभी विकसित की जा रही है। इस कारण इसमें पेपर लीक के खतरे भी संभव थे। ऐसे में सत्र 2018-19 से कक्षा 09 व 11 की राष्ट्रीय स्तर पर परीक्षा के फैसले को टाल दिया गया है।

    सत्र 2019-20 से लागू होगा
    बोर्ड ने स्कूलों को भेजे संदेश में कहा है कि अब सत्र 2019-20 से कक्षा 9 व11 की परीक्षा राष्ट्रीय स्तर पर कराई जाएगी। 4 से 25 नवंबर 2019 तक मिड टर्म और 10 फरवरी से 4 मार्च 2020 तक वार्षिक परीक्षाएं संभावित हैं। स्कूलों को इन तिथियों तक अपना सिलेबस पूरा कराना होगा। फिलहाल बोर्ड ने मॉडल पेपर अपनी वेबसाइट पर जारी कर दिए हैं। इससे प्रारुप समझना आसाना होगा। वर्तमान सत्र में परीक्षा स्कूल अपने स्तर पर ही कराएंगे

    MAT September 2018 exam- मैनेजमेंट एप्टीट्यूट टेस्ट के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, यहां देखे प्रोसेस

    आईआईटी में 2800 और सेंट्रल यूनिवर्सिटी में 5,606 पद खाली

    सेंट्रल सेक्टर स्कीम ऑफ स्कॉलरशिप के लिए करें आवेदन, ये है अंतिम तिथि

    9वीं कक्षा की बच्ची का कमाल, बनाई बारिश से बिजली बनाने वाली मशीन

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *