• Posted by admin on Date Aug 31, 2018
    69 Views No Comments

    इम्बाइब सीईओ अदिति युवाओं को दिखा रही सफलता की राह

    कहते है असफलता ही सफलता की जननी है। यह बात पूरी तरह से सही साबित होती है इम्बाइब की फाउंडर और सीईओ अदिति अवस्थी पर , जिन्होंने कभी हार नहीं मानी

    अदिति अपनी सफलता से सखी लेते हुए दूसरे छात्रों को न केवल सफलता की राह पर ले जाने का काम कर रही हैं , बल्कि आज व अपने करियर की ऊंचाईयों पर भी है। अदिति की चाहत इंजीनियर बनने की थी और वो इसके लिए आईआईटी में दाखिला लेना चाहती थीं। 1999 में उन्होंने आईआईटी दिया भी, लेकिन सही गाइडेंस न मिल पाने की नजह से वो एंट्रेस एग्जाम क्लियर नहीं कर पाई।

    इस बात का मलाल उन्हें हमेशा सताता रहा। हमेशा चोसची रही की सही समय पर अगर उन्हें गाइडेंस मिल जाती तो वे अपना सपना पूरी कर सकती थी। खैर आगे चलकर उन्होंने शिकागो से एमबीए की डिग्री हासिल की। अमेरिका और अफ्रीका की कई प्रतिष्ठित कंपनियों में उन्होंने नौकरी भी की लेकिन उनके मन में आईआईटी की कसक अब भी बरकरार थी।

    2007 में उन्होंने फैसला किया कि जिस सपने को वो खुद पूरा नही कर पाई उस दूसरे बच्चों के माध्यम से पूरा करेगी। इस मकसद के साथ उन्होंने आईआईटी में दाखिले की तैयारी और बच्चों को गाइडेंस देने के लिए ऑनलाइन टेस्ट प्रिपेशन पोर्टल इम्बाइब (www.embibe.com ) की शुरूआत की।

    कोचिंग सेंटर की तुलना में उन्होंने काफी कम फीस में स्टूडेंट्स को बेहतर ऑनलाइन क्लास और गाइडेंस देने की शुरूआत की। शुरूआत में कुछ परेशनियों का सामना भी करना पड़ा, लेकिन अपनी लगन और मेहनत के बल पर उनका स्टार्टअप काफी तेजी से आगे बढ़ता चला गया।

    आज के समय में उनके इस पोर्टल से तीन लाख से ज्यादा युवा जुड़ें है। काफी स्टूडेंट्स का आईआईटी में एडमिशन हो चुका है।और हर साल उनके यहां से बड़ी संख्या में छात्र आईआईटी और देश के अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों में दाखिला पाते है। साथ ही उनका यह ऑनलाइन पोर्टल आज के समय में करोड़ों की सालाना कमाई कर रहा है।

    ये भी पढ़ें-

    इनोवेशन को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया अटल रैंकिंग

    गार्गी कॉलेज में आयुर्वेद और योग पर छह महीन का सर्टिफिकेट कोर्स शुरू

    UPTET 2018 : 15 सितंबर को जारी होगा नोटिफिकेशन, 28 अक्टूबर को एग्जाम

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *